Query posted in DAM 4 WhatsApp group by Geeta, (दृष्टिहीन संघ)

दृष्टिहीन महिलाओं का बुरा हाल राष्ट्रीय दृष्टिहीन संघ की उप अध्यक्षा से मेरे 15 सवाल,नमस्कार,साथियों, मैं,गीता,दृष्टिहीन संघ के निर्दलीय उम्मीदवार महिला उपअध्यक्षा आप सबका स्वागत करती हूं साथियों मेरा प्रश्न नंबर 1 दिल्ली में महिलाओं के लिए कोई भी सरकारी छात्रावास नहीं है? दिल्ली सरकार ने 2005 में दृष्टिहीन छात्राओं के लिए एक छात्रावास बनाने की घोषणा की तिमारपुर में उस छात्रावास का उद्घाटन भी हुआ,किंतु आज तक वह छात्रावास बनकर तैयार ना हो सका,जिससे हमारी बहनें विश्वविद्यालय के पास रह सकें, और सुचारू रूप से अपनी शिक्षा ग्रहण कर सके, इस छात्रावास को बनाने के लिए जितने सरकार की लापरवाही रही है,उतनी ही लापरवाही हमारे सभी संगठनों ने की है,मैं जानना चाहती हूं, कि छात्रावास को बनाने के लिए आपने क्या किया?प्रश्न 2 हमारे देश,के सभी राज्यों में, महिलाओं और पुरुषों के लिए छात्रावासों की कमी है। मैं जानना चाहती हूं, कि आपने अपने स्तर पर अपने कार्य काल में क्या किया? 3 आप जानती हैं, हमारी बहनें खेलों में कम रुचि रखती हैं, इसका कारण यह है, कि हमारी बहनों को खेलों की किसी भी प्रकार की सुविधाएं नहीं मिल पाती राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय खेलों में हमारी बहनें भागीदारी कर सके और आपना अपने परिवार काआपने संघ का तथा अपने देश का नाम ऊंचा कर सके।उसके लिए आपने संघ की ओर से क्या व्यवस्था की। प्रश्न 4 राष्ट्रीय दृष्टिहीन संघ के छात्रावासों को यदि छोड़ दिया जाए।तो आपने और छात्राओं को अथवा घरेलू महिलाओं को संघ की सदस्यता दिलाने के लिए क्या किया?और आप कितनी सफल हुई ?प्रश्न 5 यह राष्ट्रीय दृष्टिहीन संघ के छात्रावास में एक बस चालक भी है।फिर भी उसका उपयोग हमारी छात्राओं के लिए कॉलेज जाने में नहीं हो रहा है, इसके क्या कारण है? हमारी बहनें राज्यों में अथवा दिल्ली में अनेक जगह असुरक्षित जगह पर रह रही हैं उनकी सुरक्षा के लिए आपने क्या किया प्रश्न 8 राष्ट्रीय दृष्टिहीन संघ के द्वारा खाद्य सुरक्षा नाम की एक योजना है, उस योजना के अंतर्गत ग्रामीण महिलाएं और पुरुष आते हैं।लेकिन कई राज्यों में इस योजना का गरीब महिलाओं और पुरुषों को लाभ नहीं मिल रहा,जिसमें दिल्ली भी शामिल है, दिल्ली में ग्रामीण क्षेत्र भी आते हैं।जैसे मुंडका, aनजफगढ़,रानी खेड़ा, कराला,नत्थूपुरा, इत्यादि मैं जानना चाहती हूं कि मेरे गरीब निर्धन भाइयों और बहनों के लिए यह सुविधा नहीं मिल पाई। आपके रहते हुए ऐसे कैसे हो गया कृपया उल्लेख करें? प्रश्नों9 राष्ट्रीय दृष्टिहीन संघ के द्वारा दृष्टिहीन महिलाओं के लिए 1 महीने की योजना आत्म सुरक्षा नामक चलाई जा रही है ,जिसमें प्रशिक्षण देने के लिए अप्रशिक्षित लोगों को बुलाया जाता है। मैं जानना चाहती हूं, की क्या अप्रशिक्षित लोगों से प्रशिक्षण दिलाना ठीक है। और 1 महीने का प्रशिक्षण दिला कर उन बहनों को प्रशिक्षित किया जा सकता है। इसमें आपका क्या कहना है? प्रश्न 10 राष्ट्रीय दृष्टिहीन संघ के द्वारा महिलाओं के लिए एक अलग से बैंक अकाउंट खोला जाए!उस अकाउंट में महिलाएं ही शामिल हो, और उस अकाउंट को चलाने की अनुमति महिला को ही मिले तथा महिलाओं के लिए ही उस अकाउंट के पैसों का सदुपयोग किया जाए। इस विषय में आपका क्या कहना है? प्रशन 11 देश के सभी सरकारी अथवा गैर सरकारी विश्वविद्यालयों में दृष्टिहीन बहन और भाइयों को प्रवेश मिले, जिसमें सभी शामिल हो, और पढ़ने की सामग्री, विश्वविद्यालय में ही मिल जाए। तथा B.a, m.a, M. fil,B.Ed, स्पेशल B.Ed तक शिक्षा उनको निशुल्क मिल जाए। सरकार से ऐसी मांगे रखी जाए इस विषय में आप क्या सोचती हैं? प्रश्न 12 राष्ट्रीय दृष्टिहीन संघ की सभी शाखाओं की महिला उप अध्यक्षों के साथ अपने कितनी बैठके की और उसमें क्या फैसले हुए तथा उन फैसलों पर आगे क्या कार्रवाई हुई ?प्रश्न 13 आप जानती हैं,दृष्टिहीन महिलाओं को भोजन बनाने में आम महिलाओं के अपेक्षा समय लगता है। तो जो महिलाएं निर्धन है। उनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है,ऐसी महिलाओं के लिए भारत सरकार से यदि गैस सब्सिडी 1 साल में 12 से बढ़ाकर 15 करने का मांग पत्र दिया जाए।तो इस विषय पर आप क्या कहना चाहेंगी?क्या आपने इस विषय को लेकर सरकार से कभी कोई कोशिश की है? प्रश्न 14 ग्रामीण तथा शहरी हमारी दृष्टिहीन बहने किसी कारणवश जो पढ़ लिक नहीं पाई।और जिन बहनों ने विद्यालयों में आकर अपनी शिक्षा ग्रहण तो कर ली किंतु किन्ही कारणों से उनका विवाह संपन्न नहीं हो,पाया और परिवार ने भी उनका साथ छोड़ दिया ऐसी बहनों के लिए सरकार तथा संगठनों ने उचित न्याय नहीं किया। वह अपने आपको हमेशा असुरक्षित महसूस करती है, और दर-दर भटकने पर मजबूर हो जाती हैं,मैं आपसे जानना चाहती हूं, आप पढ़ी-लिखी हैं दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रोफेसर हैं। आपने अपने स्तर पर उचित न्याय दिलाने के लिए हमारी बेसहारा बेवस मजबूर बहनों के लिए क्या किया? प्रश्न 15 महिलाएं और पुरुष कंधे से कंधा मिलाकर एक साथ चल सके।विशेषकर ग्रामीण क्षेत्र के लोग ऐसे हमारे दृष्टिहीन भाईयों और बहनों के लिए आपकी क्या योजना है।मैं आप सभी से करबद्ध निवेदन करती हूं? की मेरा यह संदेश राष्ट्रीय दृष्टिहीन संघ के हर सदस्य तक भेजें?

धन्यवाद।

Author: Deepa Palaniappan

Disability Inclusive Development practitioner (Bihar State Rural Livelihoods Mission, BRLPS India), passionate about strengthening data archiving/documentation capabilities of Disabled People's Organisations (DPOs) and community based initiatives.

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s