As posted on Jharkhand Divyang Adhikar Manch DAM whatsapp group by admin Ajit kumar

आज दिनांक 9 – 2 – 2019 मुझे उड़ीसा की राजधानी भुनेश्वर में रीजनल सेमिनार ऑन आरपीडब्ल्यूडी एक्ट 2016 विषय पर आयोजित कार्यक्रम मैं आमंत्रित किया गया था यह सेमिनार एमफसिस, स्वाभिमान उड़ीसा, और नेशनल सेंटर फॉर प्रमोशन ऑफ एंप्लॉयमेंट फॉर डिसएबल पीपल नई दिल्ली के द्वारा आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम का उद्देश्य भारत के सभी क्षेत्रों में विश्व बिलिटी लेजिसलेशन यूनिट का गठन करना है जो आरपीडब्ल्यूडी एक्ट के प्रावधानों के क्रियान्वयन पर अपनी नजर रखेगा इस यूनिट में दिव्यांग जनों के अधिकारों की लड़ाई करने वाले संगठनों के सदस्य शामिल किए जाएंगे। मैंने इस अवसर पर झारखंड में दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम के क्रियान्वयन विषय पर प्रकाश डाला। विकलांग जनों
के अधिकारों की लड़ाई करने वाले संगठनों के बीच सामंजस्य स्थापित करने के महत्ता पर भी विचार रखे। अन्य राज्यों के प्रतिभागियों ने अपने अपने राज्यों की वस्तु स्थिति व उनके द्वारा किए जा रहे हैं प्रयासों की चर्चा की।

इस अवसर NCPEDP नई दिल्ली के अरमान अली और लो और पॉलिसी हेड व विकलांगता कानून के जानकार श्री राजीव रतूड़ी , स्वाभिमान की हेड श्रुति महापात्र ने अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम में बिहार झारखंड छत्तीसगढ़ बंगाल और उड़ीसा के प्रतिनिधि शामिल हुए वह उड़ीसा के लगभग सभी जिलों के संस्थानों व संगठनों के प्रतिनिधि शामिल हुए।

अजीत कुमार
दिव्यांग अधिकार मंच
9905244057

Author: Deepa Palaniappan

Disability Inclusive Development practitioner (Bihar State Rural Livelihoods Mission, BRLPS India), passionate about strengthening data archiving/documentation capabilities of Disabled People's Organisations (DPOs) and community based initiatives.

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s