केंद्रीय खाद्य मंत्रालय ने सभी दिव्यांगों को राशन देने का दिया आदेश

केंद्रीय खाद्य मंत्रालय, भारत सरकार ने अपने आदेश में सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कहा है कि वे सभी विकलांग व्यक्तियों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून (एनएफएसए) के तहत सब्सिडी वाला खाद्यान्न मुहैया कराएं।

केंद्र सरकार ने राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों को पत्र लिखकर सभी पात्र विकलांगजनों को राष्‍ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम – 2013 के तहत लाने को कहा है. जिन विकलांग जनो के पास राशन कार्ड नही है वो भी इस योजना के पात्र है।

पटना के रहने वाले देवास, इंदौर, मध्यप्रदेश में फंसे हिमोफिलिया विकलांगता से ग्रसित शिव कुमार का मध्यप्रदेश विकलांग मंच ने मदद किया

विकलांग अधिकार मंच, बिहार को पटना के रहने वाले देवास, इंदौर, मध्यप्रदेश में फंसे हिमोफिलिया से ग्रसित साथी शिव कुमार जी का फैक्टर चढ़ाने व पटना घर वापसी हेतु मदद मांगी गई। शिव कुमार जी जो कि इस लोकडौन में देवास में बहुत दिनों से एक कंपनी में काम कर रहे थे वह हिमोफिलिया ग्रसित व्यक्ति हैं उन्हें काफी कमजोरी एवं ब्लडिंग ज्यादा होने से उनके अंदर कमजोरी बहुत ज्यादा हो चुकी थी जान पर आ गई थी जिसके कारण वहां अपना आत्मविश्वास कमजोर कर रहे थे। जिसपर मंच की अध्यक्ष कुमारी वैष्णवी व सचिव दीपक कुमार ने दिनांक 30.04.2020 को मध्यप्रदेश विकलांग मंच व राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य साथी आनंद मालाकार जी से संपर्क किया। जिसपर #आनंद मालाकार जी ने खबर मिलने के बाद राज्य महासचिव कुमारी #किरण पाटीदार के साथ तुरंत सुबह 8:00 बजे से पहल शुरू की 104 पर फोन लगाने के बाद कार्रवाई शुरू होने से कुछ समय तक कार्रवाई हुई। उसके बाद राज्य आयुक्त निशक्तजन मध्यप्रदेश श्री संदीप रजत जी को आनंद मालाकार जी के द्वारा अवगत कराया गया। जिसमें आयुक्त निशक्तजन के द्वारा कार्रवाई की गई देवास उपसंचालक ने सीएचएमओ देवास एवं उनके द्वारा चर्चा होने पर शिवकुमार जी को दिनांक 2/5/2020 को सुबह 8:00 बजे एंबुलेंस के साथ उन्हें बाणगंगा हॉस्पिटल इंदौर पहुंचाया गया और उन्हें इंजेक्शन ट्रीटमेंट कराने के बाद उन्हें वापस अपने गंतव्य स्थान देवास सुरक्षित पहुंचाया गया।

अब शिव जी को पटना लाने हेतु प्रयास किया जा रहा है।

आपात स्थिति से कई दिनों से परेशान बिहार के साथी को मदद करवाने में इस त्वरित कारवाई हेतु मध्यप्रदेश विकलांग मंच के साथी आनंद मालाकार जी व साथी किरण पाटीदार जी को विकलांग अधिकार मंच, बिहार द्वारा आभार प्रकट किया गया

साथ ही राज्य आयुक्त निःशक्तजन श्री संदीप रजक जी व अन्य को आभार प्रकट करता है जिन्होंने 1 दिन में बिहार के साथी का इलाज (फैक्टर) करवाया।

झारखंड सरकार के स्वास्थ्य मंत्री श्री बन्ना गुप्ता से मिला झारखंड विकलांग मंच का प्रतिनिधिमंडल

झारखंड विकलांग मंच के अध्यक्ष अरुण कुमार सिंह के नेतृत्व में विकलांग जनों का एक प्रतिनिधिमंडल स्वास्थ्य मंत्री श्री बन्ना गुप्ता से मिलकर राज्य में विकलांगजनों के स्वास्थ्य संबंधित मुद्दों पर हो रही समस्याओं से अवगत कराया जो इस प्रकार:-

  1. जिला के सभी सदर अस्पताल में विकलांगता प्रमाण पत्र बने जो “दिव्यांगता अधिकार अधिनियम 2016” के अनुसार 21 प्रकार की विकलांगता है।
  2. राज्य के विकलांगजनों के लिए निशुल्क स्वास्थ्य बीमा कराया जाए जिससे विकलांगजनों का मुफ्त इलाज हो सके।
  3. रक्त ग्रसित बिमारी से विकलांगजनों जैसे थैलेसीमिया, हीमोफीलिया और सिकल सेल लोगों का निशुल्क जांच, दवा और इलाज की सुविधा सरकार सुनिश्चित करने का योजना बनाएं।
  4. जिला के प्रत्येक सदर अस्पताल में डे केयर सेंटर बने जिससे थैलेसीमिया से प्रभावित लोग रक्त चढ़ा सके।
    इन सब मुद्दों पर मंत्री जी ने आश्वासन दिया कि बहुत जल्द इस मुद्दे पर सरकार पहल करेगी और हर व्यक्ति के स्वास्थ्य सुविधा की जिम्मेदारी सुनिश्चित करेंगे और उन्होंने कहा अभी रांची रिम्स में हमने थैलेसीमिया हिमोफीलिया से प्रभावित लोगों के लिए डे केयर सेंटर सुव्यवस्थित ढंग से बनाया है और इसे बढ़ाएगें।
    प्रतिनिधि मंडल में शशिकांत पांडे, अमन कुमार और सुचीत आदि शामिल थे

राष्ट्रीय विकलांग मंच का 2 दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक पटना, बिहार में सम्पन्न

राष्ट्रीय विकलांग मंच का दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक दिनांक 28-29 फरवरी 2020 को होटल अशोका रेसीडेंसी, पटना, बिहार में संपन्न हुई।

बैठक करते सदस्यगण


राष्ट्रीय बैठक को आयोजित करने में एक्शनऐड, पटना ने सहयोग दिया।
इस दो दिवसीय राष्ट्रीय बैठक के पहले दिन राष्ट्रीय विकलांग मंच के राज्य इकाई ओडिशा विकलांग मंच के अध्यक्ष श्री निरंजन बहेरा को राष्ट्रीय पुरस्कार-2019 मिलने पर उनको बधाई देते हुए जोरदार स्वागत किया गया

राष्ट्रीय विकलांग मंच सदस्य श्री निरंजन बहेरा का स्वागत करते राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश

तथा मंच के गतिविधियों व उपलब्धियों को बताया गया। विभिन्न राज्यों से आये प्रतिनिधियो ने अपने-अपने राज्यों के गतिविधियों व उपलब्धियों पर भी प्रकाश डाला।


विकलांग अधिकार मंच के अध्यक्ष सह राष्ट्रीय विकलांग मंच की सचिव कुमारी वैष्णवी ने बताया कि सभी प्रतिनिधियों को इ-रिक्शा से पटना गंगा घाट में जहाज की सैर व महावीर मंदिर में दर्शन भी कराया गया।

गंगा नदी में जहाज से सैर करते सदस्यगण


राष्ट्रीय विकलांग मंच के प्रतिनिधियों ने महावीर मंदिर के आचार्य किशोर कुणाल से मुलाकात किया।। आचार्य किशोर कुणाल ने प्रतिनिधि मंडल से मुलाकात कर प्रसन्नता जाहिर की साथ हीं महावीर मंदिर को विकलांगो के दर्शन करने हेतु रैंप के साथ बाधामुक्त बनाने का आश्वासन भी दिया।

महावीर मंदिर, पटना में आचार्य किशोर कुणाल से मिलते मंच सदस्यगण


राष्ट्रीय विकलांग मंच के अध्यक्ष श्री ओमप्रकाश व महासचिव अरुण कुमार सिंह की अध्यक्षता में बैठक को आयोजित किया गया।

बैठक करते राष्ट्रीय विकलांग मंच के अध्यक्ष ओम प्रकाश व महासचिव अरुण कुमार सिंह


बैठक में एक्शन ऐड के क्षेत्रीय प्रबंधक श्री सौरव कुमार ने कहा कि दिव्यांगजनों को क्षमता वर्धन प्रशिक्षण देकर आगे लाने का पहल सभी संस्थाओं को मिलकर करना चाहिए।
श्री सौरव कुमार ने कहा कि विकलांग मंच की शुरुआत 2006 में झारखंड से की गई थी उसके बाद पूरे देश मे अन्य राज्यों के साथ 2008 में बिहार में किया गया।

बैठक को संबोधित करते एक्शन ऐड, बिहार के क्षेत्रीय प्रबंधक श्री सौरव कुमार


बैठक में अन्य विकलांगता संबंधी मुद्दों पर विशेष रूप से चर्चा किया गया।
बैठक में रवि चौधरी, रंजीत कुमार, आनंद मालाकार, बिपिन राठौर, निरंजन बहेरा आदि शामिल थे।

बैठक समाप्ति के पहले सभी को होली की बधाई देते हुते एक दूसरे को अबीर भी लगाया गया।


बैठक की समाप्ति मंच की अध्यक्ष कुमारी वैष्णवी ने धन्यवाद ज्ञापन कर किया।

धनबाद के दिव्यांग को अरुण कुमार सिंह के प्रयासों से मिली मदद, नटवर श्याम मिश्रा ने मुहैया कराई राशन :

देशव्यापी लॉकडाउन के बीच राज्य के कई दिव्यांग जरूरतमंदों तक सोशल मीडिया ने सहायता पहुंचाने में सशक्त माध्यम के रूप में कार्य किया है। शनिवार को ही ऐसा नजारा देखने मिला जब धनबाद के दिव्यांग निहार रंजन भट्टाचार्य के पास राशन ना मिल पाने से संकट में थे।
फेसबुक पर समस्या बताते हुए झारखंड विकलांग मंच के अध्यक्ष अरुण कुमार सिंह से संपर्क किया एवं अपनी आपबीती को सुनाया |


इसके बाद धनबाद के विकलांग मंच के सक्रिय सदस्य नटवर श्याम मिश्रा के माध्यम से उन्हें एक माह का राशन मुहैया कराया गया |
झारखंड विकलांग मंच के अध्यक्ष अरुण कुमार सिंह ने बताया कि इसके पूर्व दिव्यांग बंभोली प्रसाद यादव जो ग्राम- लालपुर, पंचायत- नावाडीह, प्रखंड- देवघर, जिला- देवघर के सामने भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई थी जो दोनों पति-पत्नी दिव्यांग है इसके बाद उनके दोस्त समाजसेवी राजेश राय द्वारा उक्त दिव्यांग परिवार को एक महीने का राशन जिसमें चावल, आटा, दाल, आलू, नमक और मसाला सहित उपलब्ध करवाया गया इस नेक काम के लिए झारखंड विकलांग मंच की ओर से समाजसेवी राजेश राय को बहुत-बहुत धन्यवाद दिया जाता है |
इस प्रकार थैलेसीमिया पीड़ित विकलांग जनों के लिए दवा से संबंधित उपलब्ध कराने की बात सामने आ रही है जिसके सहयोग के लिए मंच के अध्यक्ष अरूण जी प्रयासरत है इसके लिए ट्विटर के माध्यम से माननीय मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री राज्य निशक्तता आयुक्त सतीश चंद्र को भी अवगत कराया गया है और बहुत- जल्द व्यवस्था कराया जाएगा।

Vaishnavi Making Masks and distributing for the PwDs

#Corona #Warriors

#Lockdown

#PwDs

#Mask_Making

#Mask_Distributions

Viklang Adhikar Manch, Bihar -DPO

This is Kumari Vaishnavi, President, Viklang Adhikar Manch, Bihar who has been making masks for the help of PwDs for the last 1 month continuously and reaching out to the PwDs and the needy.

Vaishnavi making masks

Apart from this, Vaishnavi is also fulfilling the needs of ration and other needs of the Divyang with the help of her team’s colleagues n others….

पटना के रहने वाले देवास, इंदौर, मध्यप्रदेश में फंसे हिमोफिलिया विकलांगता से ग्रसित शिव कुमार का मध्यप्रदेश विकलांग मंच ने मदद किया

विकलांग अधिकार मंच, बिहार को पटना के रहने वाले देवास, #इंदौर, मध्यप्रदेश में #फंसे #हिमोफिलिया से ग्रसित साथी शिव कुमार जी का फैक्टर चढ़ाने व पटना घर वापसी हेतु मदद मांगी गई। शिव कुमार जी जो कि देवास में बहुत दिनों से एक कंपनी में काम कर रहे थे वह हिमोफिलिया ग्रसित व्यक्ति हैं उन्हें काफी कमजोरी एवं ब्लडिंग ज्यादा होने से उनके अंदर कमजोरी बहुत ज्यादा हो चुकी थी जान पर आ गई थी जिसके कारण वहां अपना आत्मविश्वास कमजोर कर रहे थे। जिसपर मंच की अध्यक्ष कुमारी वैष्णवी व सचिव दीपक कुमार ने दिनांक 30.04.2020 को मध्यप्रदेश विकलांग मंच व राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य साथी आनंद मालाकार जी से संपर्क किया। जिसपर #आनंद मालाकार जी ने खबर मिलने के बाद राज्य महासचिव कुमारी #किरण पाटीदार के साथ तुरंत सुबह 8:00 बजे से पहल शुरू की 104 पर फोन लगाने के बाद कार्रवाई शुरू होने से कुछ समय तक कार्रवाई हुई। उसके बाद राज्य आयुक्त निशक्तजन मध्यप्रदेश श्री संदीप रजत जी को आनंद मालाकार जी के द्वारा अवगत कराया गया। जिसमें आयुक्त निशक्तजन के द्वारा कार्रवाई की गई देवास उपसंचालक ने सीएचएमओ देवास एवं उनके द्वारा चर्चा होने पर शिवकुमार जी को दिनांक 2/5/2020 को सुबह 8:00 बजे एंबुलेंस के साथ उन्हें बाणगंगा हॉस्पिटल इंदौर पहुंचाया गया और उन्हें इंजेक्शन ट्रीटमेंट कराने के बाद उन्हें वापस अपने गंतव्य स्थान देवास सुरक्षित पहुंचाया गया।

अब शिव जी को पटना लाने हेतु प्रयास किया जा रहा है।

आपात स्थिति से कई दिनों से परेशान बिहार के साथी को मदद करवाने में इस त्वरित कारवाई हेतु मध्यप्रदेश विकलांग मंच के साथी आनंद मालाकार जी व साथी किरण पाटीदार जी को विकलांग अधिकार मंच, बिहार ने आभार प्रकट किया है।

तुम तो दिव्यांग (भगवान) हो…… बाधामुक्त वातावरण क्यों…???

आसान नही है रास्ते की कोई किसी कानून का पालन आसानी से करवा लें।
वर्ष 1995 में विकलांगो के लिए एक कानून आया था जिससे विकलांगो के अधिकार, समान अवसर , भागीदारी हर बात को रखी गयी थी।

साल दर साल बितता गया और जाकर के अब पुनः एक नया सख्ती का कानून *विकलांगो के अधिकार अधिनियम- 2016* लाया गया जिसमें भी विकलांगो के अधिकार, समान अवसर, भागीदारी और बहुत कुछ रखा गया है। लेकिन ये सब कानून बनने के बाद भी इसका पालन नही हो रहा था।

तब हमारे माननीय प्रधानमंत्री ने सोचा अब क्या किया जाए, तब उन्होंने *विकलांगो को विकलांग कहना ही बंद कर दिया* एक रातो रात आदेश हुआ कि अब विकलांग के जगह उन्हें *दिव्यांग (भगवान)* कहा जायेगा जिससे कि उनके दिव्य शक्ति के कारण उनको कोई भी कानून, सुविधा, आरक्षण, इत्यादि की जरूरत नही पड़ेगी।

भाई प्रधानमंत्री की बात और कोई सरकार न माने ऐसा कैसे हो, तब ही तो हमारे बिहार सरकार में समाज कल्याण विभाग के सारे योजनाओ, कानूनों को देखने वाला *सक्षम* कार्यालय कानून आने के तीन साल बाद भी दूसरे तले पर अवस्थित है। जिसपर विकलांगजन जाए तो सीढ़ियों से या फिर बिना मिले, बिना काम किये लौट जाए। सामाजिक सुरक्षा एवं निःशक्तता निदेशालय के निदेशक महोदय भी दूसरे तले पर ही भेंट करेंगें, क्योंकि वे *सक्षम* के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी भी हैं।

मूर्ख बनाते है वे हम विकलांगो को जो एक बड़ा मंच पर बिना तार के माइक मिल जाने पर एक विद्वान के तरह दिव्यांगों/विकलांगो पर लम्बी-लम्बी भाषण दे जाते हैं।

शर्म करनी चाहिए आपको की एक विकलांगो से संबंधित भवन को तो सही कर नही रहे और राज्य में बुनियान भवन खोलेंगे,

शर्म करनी चाहिए आपको की एक व्हील चेयर जाने लायक तो जगह है नही और पूरे राज्य में बुनियाद वान चलाएंगे,

शर्म करनी चाहिए आपको की किसी काम पर मिलने के लिए तो दूसरे तले पर बुलाते हैं तथा मिलते भी नही और हर जगह बिना मांगे अधिकार देने की बात करते हैं,

शर्म करनी चाहिए आपको की राजधानी में राज्य कार्यालय तो ठीक है नही और जिलों में ठीक करने हेतु समीक्षा का ठोंग कर के पिकनिक मनाते चल रहें।

क्या आप कहीं ये तो नही सोच रहे कि “तुम तो दिव्यांग (भगवान) हो, बाधामुक्त वातावरण क्यों…..???

क्या कहूँ आपको खुद भी आप सोचो………

Deepak Kumar,

Secretary,

Viklang Adhikar Manch, Bihar