Invitation Card issued by DPO- for Social Marriage of 9 PwD couples – 09 दिव्यांग जोड़े का सामूहिक “अनोखा विवाह-4”

विकलांग अधिकार मंच व वैष्णो स्वाबलंबन द्वारा दिनांक 06 दिसम्बर को पटना में होने वाले 09 दिव्यांग जोड़े का सामूहिक अनोखा विवाह-4.

विकलांग अधिकार मंच व वैष्णो स्वाबलंबन द्वारा दिनांक 06 दिसम्बर को पटना में होने वाले 09 दिव्यांग जोड़े का सामूहिक अनोखा विवाह-4

विकलांग अधिकार मंच व वैष्णो स्वाबलंबन द्वारा दिनांक 06 दिसम्बर को पटना में होने वाले 09 दिव्यांग जोड़े का सामूहिक अनोखा विवाह-4

विकलांग अधिकार मंच व वैष्णो स्वाबलंबन द्वारा दिनांक 06 दिसम्बर को पटना में होने वाले 09 दिव्यांग जोड़े का सामूहिक अनोखा विवाह-4

विकलांग अधिकार मंच व वैष्णो स्वाबलंबन द्वारा दिनांक 06 दिसम्बर को पटना में होने वाले 09 दिव्यांग जोड़े का सामूहिक अनोखा विवाह-4

विकलांग अधिकार मंच व वैष्णो स्वाबलंबन द्वारा दिनांक 06 दिसम्बर को पटना में होने वाले 09 दिव्यांग जोड़े का सामूहिक अनोखा विवाह-4

विकलांग अधिकार मंच व वैष्णो स्वाबलंबन द्वारा दिनांक 06 दिसम्बर को पटना में होने वाले 09 दिव्यांग जोड़े का सामूहिक अनोखा विवाह-4

विकलांग अधिकार मंच व वैष्णो स्वाबलंबन द्वारा दिनांक 06 दिसम्बर को पटना में होने वाले 09 दिव्यांग जोड़े का सामूहिक अनोखा विवाह-4

विकलांग अधिकार मंच व वैष्णो स्वाबलंबन द्वारा दिनांक 06 दिसम्बर को पटना में होने वाले 09 दिव्यांग जोड़े का सामूहिक अनोखा विवाह-4

Lockdown: DPO leaders request government of India to give free foodgrains through PDS for all disabled people. Lockdown में सरकार सभी दिव्यांगजनो को राशन दें

मुख्यमंत्री जी हम दिव्यांगजनों की भी सुनें

मुख्यमंत्री महोदय जी पूर्व में विकलांगअधिकार मंच, बिहार के द्वारा पत्राचार व कई माध्यमो एवं लगातार ट्विटर के माध्यम से अन्य राज्यों के तर्ज पर बिहार में भी दिव्यांगजनो को अनाज देने हेतु हम दिव्यांगजन आपसे मांग करते आ रहे हैं, परंतु आज तक दिव्यांगजनो को अनाज हेतु कोई पहल नही की गई है….

महोदय lockdown व कोरोना जैसे विषम परिस्थिति में वैसे #दिव्यांगजन जो प्रतिदिन कमाकर अपना व अपने परिवार का पेट भरते थे,
#कोई छोटा-मोटा गुमटी दुकान या रोजगार करते थे,

ट्यूशन पढ़ाकर अपना पेट भरते थे,

कोई प्राइवेट काम करते थे…

वैसे सभी दिव्यांगजनों का बहुत बुरा स्थिति है….

महोदय आपने अभी कई योजना व कार्यक्रम चलाया है, आपने सामुदायिक रसोई भी चलाया है परंतु हमारी मजबूरी है कि हम व हमारे परिवार वहाँ प्रतिदिन खाने नही जा सकते……
महोदय कई दिव्यांग साथियों के पास कुछ पेंशन के पैसे थे जिससे वे अपना खर्च चला रहे थे… कुछ आमदनी के पैसे थे उससे खा रहे थे…आदि

महोदय हम दिव्यांगजन आपसे कोई बड़ी चीज नही मांगते हैं बस 2 चीज #आग्रह #पूर्वक #मांगते #हैं आप हमें यह मुहैया कराएंगे तो आदरणीय मुख्यमंत्री जी हम घर मे खुशी पूर्वक अपने परिवार संग #रोटीदाल और #माड़भात तो खा हीं लेंगे…….

हम दिव्यांगजनों की मांग

  1. सरकार के द्वारा 3 महीने की पेंशन की अग्रिम राशि देने का पहल किया गया हैं, परंतु हम दिव्यांगो को पूर्व महीनों के बचे पेंशन भी अभी जारी किया जाए….
  2. #राज्य के सभी दिव्यांगो को दिव्यांगता प्रमाण पत्र के आधार पर #राशन_अनाज मुहैया कराया जाए…..

मुख्यमंत्री महोदय हम भींख नही मांग सकते और हम तक कोई पहुंच भी नही पाता है। आपके ये 2 आदेश से हम दिव्यांगजन अधिकार के साथ खुशी पूर्वक सम्मानजनक भोजन कर सकेंगे।

उम्मीद है कि हमारे मुख्यमंत्री व हमारी सरकार तक हम दिव्यांग वर्ग के बातों को पहुंचाने में #सभी_वर्गों का साथ मिलेगा तथा हमारी सरकार इसे जरूर गंभीरता से लेगी

🙏 🙏निवेदक: राज्य के सभी दिव्यांगजन🙏

Arun Kumar Singh, DPO Leader Jharkhand enabling access for foodgrains to rural PwDs during lockdown, धनबाद के दिव्यांग को अरुण कुमार सिंह के प्रयासों से मिली मदद, नटवर श्याम मिश्रा ने मुहैया कराई राशन :

देशव्यापी लॉकडाउन के बीच राज्य के कई दिव्यांग जरूरतमंदों तक सोशल मीडिया ने सहायता पहुंचाने में सशक्त माध्यम के रूप में कार्य किया है। शनिवार को ही ऐसा नजारा देखने मिला जब धनबाद के दिव्यांग निहार रंजन भट्टाचार्य के पास राशन ना मिल पाने से संकट में थे।
फेसबुक पर समस्या बताते हुए झारखंड विकलांग मंच के अध्यक्ष अरुण कुमार सिंह से संपर्क किया एवं अपनी आपबीती को सुनाया |


इसके बाद धनबाद के विकलांग मंच के सक्रिय सदस्य नटवर श्याम मिश्रा के माध्यम से उन्हें एक माह का राशन मुहैया कराया गया |
झारखंड विकलांग मंच के अध्यक्ष अरुण कुमार सिंह ने बताया कि इसके पूर्व दिव्यांग बंभोली प्रसाद यादव जो ग्राम- लालपुर, पंचायत- नावाडीह, प्रखंड- देवघर, जिला- देवघर के सामने भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई थी जो दोनों पति-पत्नी दिव्यांग है इसके बाद उनके दोस्त समाजसेवी राजेश राय द्वारा उक्त दिव्यांग परिवार को एक महीने का राशन जिसमें चावल, आटा, दाल, आलू, नमक और मसाला सहित उपलब्ध करवाया गया इस नेक काम के लिए झारखंड विकलांग मंच की ओर से समाजसेवी राजेश राय को बहुत-बहुत धन्यवाद दिया जाता है |


इस प्रकार थैलेसीमिया पीड़ित विकलांग जनों के लिए दवा से संबंधित उपलब्ध कराने की बात सामने आ रही है जिसके सहयोग के लिए मंच के अध्यक्ष अरूण जी प्रयासरत है इसके लिए ट्विटर के माध्यम से माननीय मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री राज्य निशक्तता आयुक्त सतीश चंद्र को भी अवगत कराया गया है और बहुत- जल्द व्यवस्था कराया जाएगा।

जरूरतमंद विकलांग जनों के बीच राहत सामग्री का वितरण

एनसीपीईडीपी नई दिल्ली एवं झारखंड विकलांग मंच के संयुक्त तत्वाधान में आज पूर्वी सिहंभूम जिला के पटमदा एवं बोड़ाम प्रखंड में 84 जरूरतमंद विकलांग जनों के बीच राहत सामग्री का वितरण किया गया।

जिसका नेतृत्व झारखंड विकलांग मंच के प्रतिनिधि दिलीप वाहिनी ने किया इस मौके पर अन्य सहयोगी भी उपस्थित थे। मंच के अध्यक्ष अरुण कुमार सिंह ने बताया कि इस प्रकार हम लोग मंच के माध्यम से राज्य के विभिन्न जिलों में भी विकलांगजनोंं को विभिन्न प्रकार से सहयोग करने का काम कर रहे हैं ताकि देशव्यापी लॉकडाउन के कारण विकलांगजन प्रभावित नहीं हो सके एवं उनकी आवश्यकता की पूर्ति होती रहे और समाजसेवी लोगो से अपील भी किया कि विकलांग लोगो के लिए इस महासंकट के समय मदद का हाथ बढ़ाए।

केंद्रीय खाद्य मंत्रालय ने सभी दिव्यांगों को राशन देने का दिया आदेश

केंद्रीय खाद्य मंत्रालय, भारत सरकार ने अपने आदेश में सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कहा है कि वे सभी विकलांग व्यक्तियों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून (एनएफएसए) के तहत सब्सिडी वाला खाद्यान्न मुहैया कराएं।

केंद्र सरकार ने राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों को पत्र लिखकर सभी पात्र विकलांगजनों को राष्‍ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम – 2013 के तहत लाने को कहा है. जिन विकलांग जनो के पास राशन कार्ड नही है वो भी इस योजना के पात्र है।

पटना के रहने वाले देवास, इंदौर, मध्यप्रदेश में फंसे हिमोफिलिया विकलांगता से ग्रसित शिव कुमार का मध्यप्रदेश विकलांग मंच ने मदद किया

विकलांग अधिकार मंच, बिहार को पटना के रहने वाले देवास, इंदौर, मध्यप्रदेश में फंसे हिमोफिलिया से ग्रसित साथी शिव कुमार जी का फैक्टर चढ़ाने व पटना घर वापसी हेतु मदद मांगी गई। शिव कुमार जी जो कि इस लोकडौन में देवास में बहुत दिनों से एक कंपनी में काम कर रहे थे वह हिमोफिलिया ग्रसित व्यक्ति हैं उन्हें काफी कमजोरी एवं ब्लडिंग ज्यादा होने से उनके अंदर कमजोरी बहुत ज्यादा हो चुकी थी जान पर आ गई थी जिसके कारण वहां अपना आत्मविश्वास कमजोर कर रहे थे। जिसपर मंच की अध्यक्ष कुमारी वैष्णवी व सचिव दीपक कुमार ने दिनांक 30.04.2020 को मध्यप्रदेश विकलांग मंच व राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य साथी आनंद मालाकार जी से संपर्क किया। जिसपर #आनंद मालाकार जी ने खबर मिलने के बाद राज्य महासचिव कुमारी #किरण पाटीदार के साथ तुरंत सुबह 8:00 बजे से पहल शुरू की 104 पर फोन लगाने के बाद कार्रवाई शुरू होने से कुछ समय तक कार्रवाई हुई। उसके बाद राज्य आयुक्त निशक्तजन मध्यप्रदेश श्री संदीप रजत जी को आनंद मालाकार जी के द्वारा अवगत कराया गया। जिसमें आयुक्त निशक्तजन के द्वारा कार्रवाई की गई देवास उपसंचालक ने सीएचएमओ देवास एवं उनके द्वारा चर्चा होने पर शिवकुमार जी को दिनांक 2/5/2020 को सुबह 8:00 बजे एंबुलेंस के साथ उन्हें बाणगंगा हॉस्पिटल इंदौर पहुंचाया गया और उन्हें इंजेक्शन ट्रीटमेंट कराने के बाद उन्हें वापस अपने गंतव्य स्थान देवास सुरक्षित पहुंचाया गया।

अब शिव जी को पटना लाने हेतु प्रयास किया जा रहा है।

आपात स्थिति से कई दिनों से परेशान बिहार के साथी को मदद करवाने में इस त्वरित कारवाई हेतु मध्यप्रदेश विकलांग मंच के साथी आनंद मालाकार जी व साथी किरण पाटीदार जी को विकलांग अधिकार मंच, बिहार द्वारा आभार प्रकट किया गया

साथ ही राज्य आयुक्त निःशक्तजन श्री संदीप रजक जी व अन्य को आभार प्रकट करता है जिन्होंने 1 दिन में बिहार के साथी का इलाज (फैक्टर) करवाया।

झारखंड सरकार के स्वास्थ्य मंत्री श्री बन्ना गुप्ता से मिला झारखंड विकलांग मंच का प्रतिनिधिमंडल

झारखंड विकलांग मंच के अध्यक्ष अरुण कुमार सिंह के नेतृत्व में विकलांग जनों का एक प्रतिनिधिमंडल स्वास्थ्य मंत्री श्री बन्ना गुप्ता से मिलकर राज्य में विकलांगजनों के स्वास्थ्य संबंधित मुद्दों पर हो रही समस्याओं से अवगत कराया जो इस प्रकार:-

  1. जिला के सभी सदर अस्पताल में विकलांगता प्रमाण पत्र बने जो “दिव्यांगता अधिकार अधिनियम 2016” के अनुसार 21 प्रकार की विकलांगता है।
  2. राज्य के विकलांगजनों के लिए निशुल्क स्वास्थ्य बीमा कराया जाए जिससे विकलांगजनों का मुफ्त इलाज हो सके।
  3. रक्त ग्रसित बिमारी से विकलांगजनों जैसे थैलेसीमिया, हीमोफीलिया और सिकल सेल लोगों का निशुल्क जांच, दवा और इलाज की सुविधा सरकार सुनिश्चित करने का योजना बनाएं।
  4. जिला के प्रत्येक सदर अस्पताल में डे केयर सेंटर बने जिससे थैलेसीमिया से प्रभावित लोग रक्त चढ़ा सके।
    इन सब मुद्दों पर मंत्री जी ने आश्वासन दिया कि बहुत जल्द इस मुद्दे पर सरकार पहल करेगी और हर व्यक्ति के स्वास्थ्य सुविधा की जिम्मेदारी सुनिश्चित करेंगे और उन्होंने कहा अभी रांची रिम्स में हमने थैलेसीमिया हिमोफीलिया से प्रभावित लोगों के लिए डे केयर सेंटर सुव्यवस्थित ढंग से बनाया है और इसे बढ़ाएगें।
    प्रतिनिधि मंडल में शशिकांत पांडे, अमन कुमार और सुचीत आदि शामिल थे

राष्ट्रीय विकलांग मंच का 2 दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक पटना, बिहार में सम्पन्न

राष्ट्रीय विकलांग मंच का दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक दिनांक 28-29 फरवरी 2020 को होटल अशोका रेसीडेंसी, पटना, बिहार में संपन्न हुई।

बैठक करते सदस्यगण


राष्ट्रीय बैठक को आयोजित करने में एक्शनऐड, पटना ने सहयोग दिया।
इस दो दिवसीय राष्ट्रीय बैठक के पहले दिन राष्ट्रीय विकलांग मंच के राज्य इकाई ओडिशा विकलांग मंच के अध्यक्ष श्री निरंजन बहेरा को राष्ट्रीय पुरस्कार-2019 मिलने पर उनको बधाई देते हुए जोरदार स्वागत किया गया

राष्ट्रीय विकलांग मंच सदस्य श्री निरंजन बहेरा का स्वागत करते राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश

तथा मंच के गतिविधियों व उपलब्धियों को बताया गया। विभिन्न राज्यों से आये प्रतिनिधियो ने अपने-अपने राज्यों के गतिविधियों व उपलब्धियों पर भी प्रकाश डाला।


विकलांग अधिकार मंच के अध्यक्ष सह राष्ट्रीय विकलांग मंच की सचिव कुमारी वैष्णवी ने बताया कि सभी प्रतिनिधियों को इ-रिक्शा से पटना गंगा घाट में जहाज की सैर व महावीर मंदिर में दर्शन भी कराया गया।

गंगा नदी में जहाज से सैर करते सदस्यगण


राष्ट्रीय विकलांग मंच के प्रतिनिधियों ने महावीर मंदिर के आचार्य किशोर कुणाल से मुलाकात किया।। आचार्य किशोर कुणाल ने प्रतिनिधि मंडल से मुलाकात कर प्रसन्नता जाहिर की साथ हीं महावीर मंदिर को विकलांगो के दर्शन करने हेतु रैंप के साथ बाधामुक्त बनाने का आश्वासन भी दिया।

महावीर मंदिर, पटना में आचार्य किशोर कुणाल से मिलते मंच सदस्यगण


राष्ट्रीय विकलांग मंच के अध्यक्ष श्री ओमप्रकाश व महासचिव अरुण कुमार सिंह की अध्यक्षता में बैठक को आयोजित किया गया।

बैठक करते राष्ट्रीय विकलांग मंच के अध्यक्ष ओम प्रकाश व महासचिव अरुण कुमार सिंह


बैठक में एक्शन ऐड के क्षेत्रीय प्रबंधक श्री सौरव कुमार ने कहा कि दिव्यांगजनों को क्षमता वर्धन प्रशिक्षण देकर आगे लाने का पहल सभी संस्थाओं को मिलकर करना चाहिए।
श्री सौरव कुमार ने कहा कि विकलांग मंच की शुरुआत 2006 में झारखंड से की गई थी उसके बाद पूरे देश मे अन्य राज्यों के साथ 2008 में बिहार में किया गया।

बैठक को संबोधित करते एक्शन ऐड, बिहार के क्षेत्रीय प्रबंधक श्री सौरव कुमार


बैठक में अन्य विकलांगता संबंधी मुद्दों पर विशेष रूप से चर्चा किया गया।
बैठक में रवि चौधरी, रंजीत कुमार, आनंद मालाकार, बिपिन राठौर, निरंजन बहेरा आदि शामिल थे।

बैठक समाप्ति के पहले सभी को होली की बधाई देते हुते एक दूसरे को अबीर भी लगाया गया।


बैठक की समाप्ति मंच की अध्यक्ष कुमारी वैष्णवी ने धन्यवाद ज्ञापन कर किया।

धनबाद के दिव्यांग को अरुण कुमार सिंह के प्रयासों से मिली मदद, नटवर श्याम मिश्रा ने मुहैया कराई राशन :

देशव्यापी लॉकडाउन के बीच राज्य के कई दिव्यांग जरूरतमंदों तक सोशल मीडिया ने सहायता पहुंचाने में सशक्त माध्यम के रूप में कार्य किया है। शनिवार को ही ऐसा नजारा देखने मिला जब धनबाद के दिव्यांग निहार रंजन भट्टाचार्य के पास राशन ना मिल पाने से संकट में थे।
फेसबुक पर समस्या बताते हुए झारखंड विकलांग मंच के अध्यक्ष अरुण कुमार सिंह से संपर्क किया एवं अपनी आपबीती को सुनाया |


इसके बाद धनबाद के विकलांग मंच के सक्रिय सदस्य नटवर श्याम मिश्रा के माध्यम से उन्हें एक माह का राशन मुहैया कराया गया |
झारखंड विकलांग मंच के अध्यक्ष अरुण कुमार सिंह ने बताया कि इसके पूर्व दिव्यांग बंभोली प्रसाद यादव जो ग्राम- लालपुर, पंचायत- नावाडीह, प्रखंड- देवघर, जिला- देवघर के सामने भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई थी जो दोनों पति-पत्नी दिव्यांग है इसके बाद उनके दोस्त समाजसेवी राजेश राय द्वारा उक्त दिव्यांग परिवार को एक महीने का राशन जिसमें चावल, आटा, दाल, आलू, नमक और मसाला सहित उपलब्ध करवाया गया इस नेक काम के लिए झारखंड विकलांग मंच की ओर से समाजसेवी राजेश राय को बहुत-बहुत धन्यवाद दिया जाता है |
इस प्रकार थैलेसीमिया पीड़ित विकलांग जनों के लिए दवा से संबंधित उपलब्ध कराने की बात सामने आ रही है जिसके सहयोग के लिए मंच के अध्यक्ष अरूण जी प्रयासरत है इसके लिए ट्विटर के माध्यम से माननीय मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री राज्य निशक्तता आयुक्त सतीश चंद्र को भी अवगत कराया गया है और बहुत- जल्द व्यवस्था कराया जाएगा।